Category Archives: Revolution

A path from peace towards revolution

उस पार भी कुछ है -आओ दिखा दूं …

उस पार भी कुछ है … आओ दिखा दूं … बहुत तरह की गर्द है , जिससे इंसान ने समझौता कर लिया है ! वो कहता है चलना मुश्किल हो गया है , दलदल मे चलना मुश्किल ही होता है … Continue reading

Posted in Peace, Revolution, Uncategorized | Tagged , , , , | Leave a comment

वर्तमान की कला का अनाड़ी – है इंसान …

वर्तमान की कला का अनाड़ी – है इंसान … विचार तो बारिश की तरह बरसते रहते है , उनको रोक लेना एक अभ्यास या विषय है ! मन बहुत से खेल खिलाता है ! ध्यान देने से पता लगता है … Continue reading

Posted in Peace, Revolution, Uncategorized | Tagged , , , , | Leave a comment

किसी विश्व कल्याण को मेरी ज़रूरत नही …

किसी विश्व कल्याण को मेरी ज़रूरत नही … भ्रम का आधार पक्का हो जाए तो उसे ज्ञान की संज्ञा नही दी जा सकती ! हार स्वीकार कर लेना तो ज्ञानी का स्वाभाव होना चाहिया परंतु हार का सही सही विश्लेषण … Continue reading

Posted in Peace, Revolution, Uncategorized | Tagged , , , , | Leave a comment

क्या मज़ाक है !!!

क्या मज़ाक है !!! जीवन किसी रहस्या से भरा नही ! कोई ऐसा नही , जो कुछ पा लेने की दौड़ मे शामिल ना ही ! पा लेने की परिभाषा अलग अलग ज़रूर हो सकती है , उसे तोड़ा मरोड़ा … Continue reading

Posted in Peace, Revolution, Uncategorized | Tagged , , , , | Leave a comment

तलाश आ बैठी है मेरे जीवन मे

तलाश आ बैठी है मेरे जीवन मे कुछ धारणए सज सवर बैठ जाती है ! समय जो निरंतर है , चलता रहता है, सतह पर बदलाव होते रहते है ! मूल सतह कहीं गहराइयो मे बसी होती है , वह … Continue reading

Posted in Peace, Revolution, Uncategorized | Tagged , , , , | Leave a comment

नवा अनुच्छेद – शांति से क्रांति

नवा अनुच्छेद – शांति से क्रांति मैं कुछ करता हूँ , फिर जो किया है ,या तो उस पर खुश होता हूँ, या दुखी , या शर्म आती है , या डर लगता है , या गर्व होता है , … Continue reading

Posted in Peace, Revolution | Tagged , , , , , , , , , , , , | Leave a comment

अठवा अनुच्छेद – शांति से क्रांति

अठवा अनुच्छेद – शांति से क्रांति ईश्वर से मिलने की चाह का मूल कारण profit without investment होता है , profit का रूप कोई भी हो सकता है ! भक्ति , मनोकामना , जन कल्याण परंतु हर रूप के गर्भ … Continue reading

Posted in Peace, Revolution | Tagged , , , , , , , , , , , | Leave a comment